मंगलायतन विवि देश के शीर्ष 100 यूनिवर्सिटी में शामिल

Spread the love

अलीगढ़। मंगलायतन विश्वविद्यालय को एनईपी (राष्ट्रीय शिक्षा नीति) के अनुरुपता एवं डिजिटल संकल्पना को अपनाने के लिए एसोचौम ने 100 शिखर सम्मेलन में भारत के शीर्ष 100 उच्च शिक्षा संस्थानों में मान्यता दी है। मंविवि को एसोचौम द्वारा प्रशंसा प्रमाणपत्र प्रदान किया गया है।
बुधवार को नई दिल्ली में एसोचौम नेशरनल काउंसिल ऑन एजुकेशन द्वारा डिजिटल डिस्टिंक्शन एनईपी के लिए प्रौद्योगिकी अनुरुपता पर कार्यक्रम आयोजित हुआ था। इस 100 शिखर सम्मेलन में प्रतिष्ठित सरकारी और निजी संस्थानों के शिक्षाविदों, कुलपतियों, प्राचार्यों, डीन, निदेशकों आदि ने भाग लिया था। कुलपति प्रो. पीके दशोरा ने खुशी व्यक्त करते हुए बताया कि विवि के लिए यह उपलब्धि गौरव की बात है। मंविवि का चयन अकादमिक, प्रौद्योगिकी और नीतिगत नेताओं के एक समूह द्वारा डिजाइन और अनुमोदित एक व्यापक प्रौद्योगिकी ढांचे के आधार पर किया गया था। विश्वविद्यालय के चेयरमैन हेमंत गोयल, बोर्ड ऑफ मैनेजमेंट के सदस्य मुकेश गोयल, कुलसचिव प्रो. दिनेश शर्मा, डीन अकेडमिक प्रो. उल्लास गुरुदाश, प्रो. रवि कांत, डा. राजेश उपाध्याय आदि प्रोफेसर, प्राचार्य व स्टाफ सदस्यों ने पुरस्कार के लिए प्रशन्नता व्यक्त की है।

 

Related posts

One Thought to “मंगलायतन विवि देश के शीर्ष 100 यूनिवर्सिटी में शामिल”

Leave a Comment