पोस्टर प्रतियोगिता में दीक्षा, श्वेता, शुभम, गुंजन ने मारी बाजी

Spread the love

सांस्कृतिक मूल्यों को सहेजने से लेकर वैज्ञानिक आविष्कारों को आम जीवन से जोड़ने तक रचनात्मक समझ और नवाचार का भाव जरूरी है। शिक्षा के क्षेत्र में नवाचार की भूमिका अहम होती है। इसी भाव के साथ शुक्रवार को मंगलायतन विश्वविद्यालय में विश्व रचनात्मक एवं नवाचार दिवस मनाया गया। कार्यक्रम का आयोजन इंस्टीट्यूशन इनोवेशन काउंसिल द्वारा किया गया। जिसमें विद्यार्थियों द्वारा मानव स्वास्थ्य के लिए कंप्यूटर शिक्षा विषय पर पोस्टर प्रस्तुति दी गई।
कार्यक्रम के दौरान विद्यार्थियों ने एक से बढ़कर एक पोस्टर प्रस्तुत किए। निर्णायक की भूमिका में प्रो. रविकांत, डा. पूनम रानी, डा. रश्मि सक्सैना रहे। प्रतियोगिता में बायोटेक की दीक्षा शर्मा ने प्रथम, एजूकेशन की श्वेता ने द्वितीय एवं बायोटेक के शुभम व गुंजन ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। विजेता व प्रतिभागी विद्यार्थियों को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। परीक्षा नियंत्रक प्रो. दिनेश शर्मा सहित अन्य प्राध्यापकों ने विद्यार्थियों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए शुभकामनाएं दी। कार्यक्रम संयोजन डा. राजेश उपाध्याय, समन्वयक डा. सोनी सिंह व सह-समन्वयक लव मित्तल रहे। संचालन प्रो. सिद्धार्थ जैन ने किया। इस अवसर पर डा. दीपशिखा, रवि, शालू, कविता आदि उपस्थित रहे।

Related posts

One Thought to “पोस्टर प्रतियोगिता में दीक्षा, श्वेता, शुभम, गुंजन ने मारी बाजी”

Leave a Comment