रस्सा खेंच प्रतियोगिता में आईईआर की टीम ने मारी बाजी

Mangalayatan university
Spread the love

अलीगढ़। मंगलायतन विश्वविद्यालय में हॉकी के दिग्गज खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद का जन्मदिन राष्ट्रीय खेल दिवस के रुप में मनाया गया। इस दौरान विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। प्रतियोगिता में छात्र-छात्राओं ने प्रतिभाग कर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।

खेल प्रतियोगिता का शुभारंभ जन संचार विभाग के अध्यक्ष डा. संतोष गौतम, डा. दीपशिखा सक्सेना, डा. सिद्धार्थ जैन ने किया। डा. संतोष गौतम ने हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि जर्मन तानाशाह हिटलर ने मेजर ध्यानचंद को अपनी सेना में उच्चपद देने का प्रस्ताव दिया था, लेकिन मेजर ने हिटलर के प्रस्ताव को ठुकराकर अपने देश के लिए ही खेलना स्वीकार किया। एनएसएस के अधिकारी प्रो. सिद्धार्थ जैन ने कहा कि सरकार के निर्देश पर खेलों को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय खेल दिवस मनाया जाता है। डा. दीपशिखा सक्सेना ने कहा कि खिलाड़ियों को खेल सिर्फ खेल भावना के साथ खेलना चाहिए, इसमें जीत और हार मायने नहीं रखती है। रस्सा खेंच प्रतियोगिता बालक व बालिका वर्ग में आईईआर की टीम प्रथम, बीसीए व आईएएस की टीम द्वितीय स्थान पर रही। टेवल टेनिस में अभिनव, आर्यन, अनुज ने क्रमशः स्थान प्राप्त किया। निर्णायक डा. शिव कुमार रहे। इस अवसर पर डा. यतेंद्रपाल, डा. संजय पाल, डा. अनुराधा यादव, डा. रामकुमार पाठक, डा. कविता शर्मा आदि उपस्थित थे।

 

चित्र परिचय: 01- मंविवि में रस्सा खेंच प्रतियोगिता में भाग लेते खिलाड़ी। 02- मंविवि में प्रतियोगिता का शुभारंभ करते डा. संतोष गौतम साथ में अन्य।

Related posts

Leave a Comment